This website uses cookies to ensure you get the best experience on our website.

ADD-n.jpg

 

 

 

भिंड । एमपी में कांग्रेस नेता के घर में पुलिस के घुसने से बवाल हो गया। कांग्रेस नेता के समर्थकों ने हंगामा कर दिया जिससे जबर्दस्त तनाव हो गया हालांकि पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने किसी तरह स्थिति संभाल ली। वरिष्ठ कांग्रेसी और पूर्व नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह की हवेली में पुलिस के घुसने से कार्यकर्ता भड़क उठे। डॉ. गोविंद सिंह ने लहार के बीजेपी विधायक अंबरीश शर्मा को घेरते हुए कहा कि वे शत्रुतापूर्ण व्यवहार कर रहे हैं।
शनिवार को भिंड के लहार स्थित डॉ. गोविंद सिंह के मकान की नपाई करने राजस्‍व विभाग के अधिकारी-कर्मचारी पुलिस बल के साथ पहुंचे। पुलिस बल के साथ घर में घुसने से कांग्रेसी गुस्सा उठे। डॉ. गोविंद सिंह के समर्थकों ने प्रशासन की कार्रवाई का विरोध करना चालू कर दिया।
डॉ. गोविंद सिंह पर सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर मकान बनाने का आरोप है। स्थानीय रहवासियों का कहना है कि सार्वजनिक रास्ते पर कब्जा कर मकान बनाया गया है जबकि डॉ. गोविंद सिंह और उनके परिजन इसे पुश्तैनी जमीन बता रहे हैं।
इससे पहले 18 जुलाई को भी डॉ. गोविंद सिंह की हवेली की नपाई की गई थी। तब सात घंटे तक जमीन की नापजोख का काम चला था। 19 जुलाई को डॉ. गोविंद सिंह के पुत्र कोर्ट पहुंचे पर उनकी याचिका खारिज हो गई।
इसके बाद शनिवार को पुलिस बल के साथ राजस्व अमला फिर मौके पर पहुंचा और नपाई का काम शुरु कर दिया। मकान के अंदर पुलिस घुसी तो कांग्रेसियों ने विरोध किया। समर्थकों के हंगामे से यहां जबर्दस्त तनाव की स्थिति बन गई। डॉ. गोविंद सिंह ने बीजेपी के विधायक अंबरीश शर्मा पर भी अतिक्रमण करने का आरोप लगाते हुए कहा अन्य अतिक्रमणों को क्योें छोड़ा जा रहा है। उन्होंने बीजेपी विधायक पर परेशान करने का भी आरोप लगाया।
मामला गरमाता देख एसडीएम विजय सिंह यादव ने कमान संभाली। उन्होंने डॉ. गोविंद सिंह और उनके समर्थकों को समझाइश देकर शांत किया। इसके बाद दोबारा नपाई शुरु हुई।
डॉ. गोविंद सिंह पर आरोप है कि उन्होंने मकान बनाकर दोनों ओर लोहे के गेट से आम रास्ता बंद कर दिया है। वार्ड 12 के लोगों को आवागमन के लिए उपयोग में आनेवाला रास्ता उत्तर-दक्षिण दोनों दिशाओं में बंद किया गया है।
लहार में भिंड-भांडेर रोड पर स्थित हवेली की स्थानीय लोगों ने शिकायत की थी। सरकारी रास्ते पर कब्जे की शिकायत के बाद प्रशासन द्वारा ये कार्रवाई की जा रही है। नपाई करने राजस्व अमला भारी पुलिस बल के साथ पहुंचा है। अतिक्रमण होने पर मकान टूट भी सकता है।
लहार के पूर्व पार्षद बाबूलाल टैगाेर ने पूर्व में कलेक्टर और एसडीएम को इस संबंध में ज्ञापन दिया था। उन्होंने ज्ञापन में कहा था कि कांग्रेस नेता पूर्व विधायक डॉ. गोविंद सिंह की कोठी के अंदर से वार्ड क्रमांक 12 के लिए आम रास्ता है जिसे बंद कर दिया गया है। 4 जुलाई 2024 को की गई शिकायत में उन्होंने बताया कि सर्वे क्रमांक 2711, 2715, 2716 मौजा लहार में पूर्व से ही यह आम रास्ता के रूप में दर्ज है। बाबूलाल टैगाेर की शिकायत पर 18 जुलाई को राजस्व अमले ने डॉ. गोविंद सिंह की कोठी के आसपास की जमीन नापी।
मकान के सीमांकन के दौरान लहार के अलावा असवार, मिहोना, दबोह, आलमपुर, रावतपुरा आदि थानों से भी पुलिस फोर्स बुलाकर यहां तैनात कराया गया था। एसडीएम विजय सिंह यादव खुद यहां मौजूद रहे थे।
शनिवार को दोबारा राजस्व अमले की नापजोख की खबर फैलते ही राजनैतिक हलचल शुरू हो गई। चर्चा है कि सरकारी रास्ते पर अतिक्रमण मिलता है तो कोठी ढहाई जा सकती है। ऐसे में जिलेभर के कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता भी यहां आ चुके हैं।
डॉ. गोविंद सिंह के बेटे अमित प्रताप सिंह ने मामले में तहसीलदार को ज्ञापन देकर लहार में सर्वे क्रमांक 2715, 2716 के सीमांकन पर आपत्ति जताई है। उनका दावा है कि आरसीएमएस पोर्टल में सर्वे नंबर 2715 और 2716 के सीमांकन करने संबंधी कोई प्रकरण दर्ज नहीं पाया गया।

---------------------------------
केंद्रीय विद्यालय को बम से उड़ाने के ईमेल से मचा हड़कंप, जांच में जुटी पुलिस
इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर के सिमरोल स्थित IIT कैंपस के पीएम श्री केंद्रीय विद्यालय कोबम से उड़ाने की धमकी मिली है। स्कूल की मेल आईडी पर एक मेल आया जिसमें स्कूल को 15 अगस्त के दिन बम से उड़ाने की धमकी दी गई है। जैसे ही इस पूरे मामले की जानकारी स्कूल प्रबंधक को लगी उन्होंने पूरे मामले की सूचना सिमरोल पुलिस को दी और पुलिस ने मेल पर मिली धमकी के आधार पर प्रकरण दर्ज कर पूरे मामले में बारीकी से जांच पड़ताल शुरू कर दी है।
फिलहाल जैसे ही पूरे मामले की जानकारी स्कूल प्रबंधक के द्वारा पुलिस को दी गई तो पुलिस ने इस पूरे मामले में आनन-फानन में प्रकरण दर्ज कर पूरे मामले की जांच पड़ताल शुरू कर दी है। वहीं धमकी भरा मेल मिलने के बाद IIT कैंपस की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। बिना आईकार्ड किसी को भी प्रवेश नहीं दिया जा रहा है।
वहीं पुलिस अब उस आईपी एड्रेस को ट्रेस करने की कोशिश में लगी है जिससे ये ईमेल भेजा गया था। फिलहाल देखना होगा कि पुलिस पूरे मामले में कब तक इस तरह की धमकी देने वाले आरोपियों को गिरफ्तार करती है। वहीं स्कूल की सुरक्षा भी बढ़ा दी गई है।
---------------------------------
प्रेमी के प्यार में पागल थी मां, बेटे ने विरोध किया तो उतार दिया मौत के घाट
रीवा। मध्य प्रदेश के रीवा जिले से दिल दहलाने वाला मामला सामने आया है। यहां एक मां ने अपने जिस जिगर के टुकड़े को 13 साल पाला, प्रेमी की चाहत में उसी को मौत के घाट उतार दिया। महिला ने उससे कहा था कि अवैध संबंध की बात अपने पिता से मत कहना। लेकिन बेटा नहीं माना, जिसका खामियाजा उसे जान देकर चुकाना पड़ा।
मामला रीवा जिले के जवा तहसील अंतर्गत पनवार थाना के नाष्टिगवा गांव का है। जहां पर 15 जुलाई को प्रेमी के प्यार में पागल और उसे पाने की चाहत में एक रानी गुप्ता नाम की महिला ने संबंधों का विरोध करने वाले अपने 13 साल के मासूम बेटे को ही मौत के घाट उतार दिया था।
दरअसल महिला का पति बाहर मजदूरी करता है। इसी का फायदा उठाकर महिला के घर में उसका आशिक आता था जहां दोनों संबंध बनाते थे। यह बात मासूम बेटे को मालूम चल गई थी। उसने इन सबका विरोध किया। यही उसे भारी पड़ गया। उसने कह कि उसे यह सब अच्छा नहीं लगता है। वह पिता को सारी बात बताएगा। हत्यारिन मां ने 13 साल के बेटे आदित्य गुप्ता की गला दबाकर हत्या कर दी और बगल के निर्माणाधीन मकान में उसकी लाश को फेंक दिया।
जानकारी लगते ही पनवार थाना प्रभारी, रीवा पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह और अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विवेक लाल एवं डभौरा एसडीपीओ रूपेंद्र धुर्वे ने घटनास्थल का निरीक्षण कर मामले को गंभीरता से लेते हुए जांच में जुट गई थी। कुछ घंटों में आरोपी मां और उसके प्रेमी को गिरफ्त में लेकर पूछताछ की गई। जहां पर उन्होंने अपना जुर्म कबूल किया। जिसका आज अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विवेक लाल ने खुलासा किया।
महिला बेटे की हत्या करने के बाद थाने पहुंची और घड़ियाली आंसू बहाए। उसने रात भर बेटे की मौत से आहत होने का नाटक किया और रोती रही। आरोपी ने अपनी जेठानी और जेठ पर आरोप लगाए। लेकिन बार-बार वह अपना बयान बदलती रही, जिससे पुलिस को शंका हुई।
महिला ने पुलिस को बताया कि सोमवार को प्रेमी जाहिर से मिलकर लौटी, तो बेटे भला-बुरा कहा। इससे मुझे बहुत गुस्सा आया। वह हम दोनों को जुदा कर देना चाहता था। मैंने यह बात जाहिर को बताई। उसने कहा- जब तक यह जिंदा रहेगा, हमारे बीच में रोड़ा बनता रहेगा।
इसे रास्ते से हटा देना चाहिए। फिर तय कर लिया कि बेटा और प्रेमी में से मैंने जाहिर को चुना। उसी वक्त बेटे आदित्य की हत्या का निर्णय लिया, ताकि वह दोबारा हमारे बीच में नहीं आ सके। चूंकि मैं उसकी मां हूं, इसलिए शक भी नहीं होगा।
इसी रात यानी सोमवार को सोते में गमछे से बेटे का गला घोंट दिया। हालांकि बेटे ने खुद को छुड़ाने की कोशिश भी की, लेकिन मैंने नहीं छोड़ा। इस दौरान उससे बोलती गई कि अगर तू मेरे और जाहिर के बीच नहीं आता, तो तुझे नहीं मारती।

भोपाल। भोपाल की हुजूर विधानसभा में बारिश के कारण शव के भीगने व टीन रखकर चिता को अग्नि देने का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। यहां शमशान न होने के कारण बांस-बल्लियां के सहारे शव को ढका गया, इसके बाद आग दी गई। वीडियो सामने आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि ये डबल इंजन सरकार का नमूना है।
मामला ग्राम पंचायत चौपड़ा कला का है। यहां श्मशान घाट नहीं है। इस वजह से चिता पर अस्थाई टीनशेड डालकर अंतिम संस्कार करना पड़ा। इसका वीडियो सामने आया है। शुक्रवार को काफी इंतजार करने के बाद जब बारिश नहीं थमी, तो मृतक ट्रैवल्स ऑपरेटर के परिजन और गांव के लोगों ने चिता के चारों ओर बल्लियां गाड़ीं, इसके ऊपर टीन रखकर चिता को अग्नि दी।
हालांकि, इतने इंतजाम के बाद भी चिता की लकड़ियों को भीगने से नहीं रोका जा सका। लोग मुश्किल से अंतिम संस्कार की रस्में निभाकर घरों को लौटे। राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह ने वीडियो शेयर कर राज्य सरकार पर निशाना साधा है। सिंह ने कहा, 'भाजपा की डबल इंजन सरकार का नमूना। कथित विकास की जमीनी हकीकत देखिए, राजधानी भोपाल से सटी ग्राम पंचायत चौपड़ा कला में श्मशान घाट नहीं है। ग्रामीणों को बरसते पानी में जुगाड़ कर शव दाह करना पड़ता है।'
चौपड़ा कला ग्राम पंचायत हुजूर विधानसभा क्षेत्र में आती है। वीडियो सामने आने के बाद पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने अपनी सांसद निधि से गांव में श्मशान घाट के लिए फंड देने की भी बात कही है। बहरहाल, इस वीडियो ने राज्य में विकास के दावों की पोल खोल दी है, जहां नागरिकों को गरिमापूर्ण जीवन तो दूर गरिमापूर्ण मौत भी नसीब नहीं।
-------------------------------------
‘मध्य प्रदेश में भी हर दुकान के सामने लिखा हो दुकानदार का नाम’, विधायक ने मुख्यमंत्री को लिखी चिट्ठी
इंदौर। कांवड़ यात्रा मार्ग की दुकानों पर संचालक का नाम लिखे जाने का मुद्दा उत्तर प्रदेश से अब मध्य प्रदेश पहुंच गया है। इंदौर से भाजपा विधायक रमेश मेंदोला ने मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव को चिट्ठी लिखकर पूरे मध्य प्रदेश में यही व्यवस्था लागू करने की मांग की है।
रमेश मेंदोला ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि मध्य प्रदेश में भी हर दुकान के सामने दुकानदार का नाम लिखे जाने का नियम बनने और आदेश जारी करने का अनुरोध है, ताकि हर दुकानदार नाम के गौरव की अनुभूति कर सके।
रमेश मेंदोला की चिट्ठी-
मान्यवर, किसी भी व्यक्ति का नाम उसकी पहचान होता है। व्यक्ति को अपने नाम पर गर्व होता है। नाम पूछना ग्राहक का अधिकार है और दुकानदार को अपना नाम बताने में गर्व होना चाहिए, शर्म नहीं।
मध्य प्रदेश के हर छोटे बड़े व्यापारी, कारोबारी और दुकानदार को अपना नाम बताने में गौरव के इस भाव की अनुभूति हो सके इसलिए यशस्वी मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव जी को पत्र लिखकर मध्यप्रदेश में हर दुकान के सामने दुकानदार का नाम लिखने का आदेश देने का आग्रह किया है।
ऐसा करने से समाज में दुकानदार की पहचान स्थापित होगी और सभी दुकानदार अपना नाम और गुडविल बढ़ाने के लिए ग्राहकों को बेहतर सेवा देने के प्रयास करेंगे इससे व्यापार जगत में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा होगी और प्रदेश का विकास और अधिक तीव्र गति से होगा।
----------------------------
भारी बारिश का अलर्ट: मानसून ट्रफ लाइन कोटा, गुना, सागर और बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक्टिव
भोपाल। मौसम विभाग ने मध्य प्रदेश में रविवार से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। जो अगले 24 घंटे में ओडिशा की ओर बढ़ सकता है। इसके असर से मध्य प्रदेश में एक बार फिर मानसून का नया स्ट्रॉ़न्ग सिस्टम एक्टिव हो जाएगा। जिससे मध्य प्रदेश के सभी जिले भारी बारिश से तरबतर हो जाएंगे।
मध्य प्रदेश में इन दिनों बारिश का स्ट्रन्ग सिस्टम पहले से ही बना हुआ है। इसके असर से प्रदेश भर के जिलों में कहीं तेज, कहीं मध्यम बारिश तो कहीं बौछारों को दौर जारी है। लगभग हर जिला बारिश से भीग रहा है। वहीं IMD भोपाल ने एक और नए सिस्टम के एक्टिव होने से प्रदेश भर में मानसून की भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।
शनिवार को जहां भोपाल, इंदौर, उज्जैन समेत प्रदेश के 21 जिलों में तेज बारिश होने की संभावना के बीच राजधानी भोपाल में लोगों को दिनभर उमस ने परेशान किए रखा। तो कुछ इलाकों में रिमझिम बारिश का दौर भी शुरू हो गया।
IMD भोपाल के मौसम वैज्ञानियों को मुताबिक मध्य प्रदेश में बड़ें पैमाने पर नमी बनी हुई है। जिससे कई क्षेत्रों में गरज-चमक के साथ बारिश का दौर जारी है। वहीं कम दबाव का क्षेत्र ओडिशा की ओर आगे बढ़ रहा है। इसका असर मध्य प्रदेश में नजर आएगा। इसके प्रभाव से रविवार से पूरे मध्य प्रदेश में एक बार मानसून छा जाएगा और तूफानी बारिश का दौर चलेगा।
मौसम विभाग का कहना है कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। अगले 24 घंटे में यह आगे बढ़ना शुरू हो जाएगा। पहले ओडिशा फिर छत्तीसगढ़ को पार करते हुए मध्य प्रदेश में एंट्री करेगा। जबकि एमपी में पहले से ही एक साइक्लोन भी एक्टिव है। वहीं मानसून ट्रफ लाइन जैसलमेर, कोटा, गुना, सागर रयपुरी, पुरी होते हुए दक्षिण-पूर्व की ओर और पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक्टिव हैं। इसके कारण मध्य प्रदेश में एक बार फिर मानसून छाने को तैयार है।
हल्की बारिश की संभावना -मौसम विभाग ने ग्वालियर समेत एमपी के अन्य जिलों में आंधी, गरज-चमक के साथ हल्की बारिस की चेतावनी जारी की है।
यहां भारी बारिश का अलर्ट-मध्य प्रदेश में देवास, हरदा, भोपाल, इंदौर, रायसेन, छिंदवाड़ा, मंडला सागर, नरसिंहपुर, जबलपुर, नर्मदापुरम, सीहोर, बैतूल, खंडवा, खरगौन, पाढुर्णा, सिवनी, बालाघाट, उज्जैन, रतलाम, शाजापुर में भारी बारिश का अलर्ट

चेन्नई। तमिलनाडु के BSP प्रदेश अध्यक्ष के. आर्मस्ट्रॉन्ग (52) की हत्या के मामले में पुलिस ने भाजपा की महिला पदाधिकारी अंजलाई को गिरफ्तार किया है। नॉर्थ चेन्नई की महिला मोर्चा की पदाधिकारी अंजलाई पर आरोप है कि उन्होंने आर्मस्ट्रांग की हत्या में शामिल एक हमलावर को 10 लाख रुपए दिए थे।
यह रकम उन्हें एक बदमाश से मिली थी जो किसी दूसरे मामले में वेल्लोर सेंट्रल जेल में बंद है। पुलिस के मुताबिक, महिला ने हमलावरों को शरण भी दी थी। आर्मस्ट्रांग हत्या केस में नाम आने के बाद अंजलाई को पार्टी ने निकाल दिया गया है।
के. आर्मस्ट्रांग की 5 जुलाई को चेन्नई में उनके घर के बाहर बाइक सवार छह हमलावरों ने चाकू-तलवारों से हत्या का दी। हमला तब हुआ जब आर्मस्ट्रॉन्ग शाम करीब 7 बजे सेम्बियम इलाके के वेणुगोपाल स्ट्रीट पर अपने घर के कुछ पार्टी कार्यकर्ताओं से बात कर रहे थे। उन्हें अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया, लेकिन डॉक्टरों ने उन्हें ​मृत घोषित कर दिया।
पुलिस के मुताबिक, अब तक इस मामले में कुल 15 संदिग्धों को हिरासत में लिया गया है। उनसे पूछताछ जारी है। आर्मस्ट्रांग की हत्या के एक दिन के भीतर ही 11 संदिग्धों को हिरासत में ले लिया गया था। उसके बाद 18 जुलाई को पुलिस ने सतीश, मलारकोडी और हरिहरन नाम के तीन लोगों को हिरासत में लिया।
हत्या का एक मुख्य आरोपी तिरुवेंगदम रविवार (14 जुलाई) की सुबह पुलिस एनकाउंटर में मारा गया। पुलिस ने बताया कि आरोपी तिरुवेंगदम ने आज सुबह पुलिस कस्टडी से भागने की कोशिश की।
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, पुलिस ​आर्मस्ट्रॉन्ग की हत्या को गैंगस्टर अर्कोट सुरेश के मर्डर से जोड़कर देख रही है। गैंगस्टर सुरेश की पिछले साल हत्या हुई थी। नॉर्थ चेन्नई के एडिशनल कमिश्नर ऑफ पुलिस ( ACP) असरा गर्ग ने बताया कि गैंगस्टर अर्कोट सुरेश के लोग मानते हैं कि आर्मस्ट्रांग ने ही उसकी हत्या की साजिश रची गई थी। पुलिस ने जिन 11 संदिग्धों को पकड़ा है, उनमें से एक, पोन्नई वी बालू, सुरेश का छोटा भाई है।
तमिलनाडु में बसपा नेता की हत्या को लेकर लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष राहुल गांधी और राज्य के CM एमके स्टालिन ने दोषियों के खिलाफ कार्रवाई का आश्वासन दिया है।
राहुल गांधी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर लिखा- बसपा के तमिलनाडु प्रमुख थिरु आर्मस्ट्रॉन्ग की क्रूर हत्या से मुझे गहरा सदमा लगा। उनके परिवार, दोस्तों और समर्थकों के प्रति मेरी संवेदनाएं हैं। मुझे विश्वास है कि सरकार दोषियों को जल्द न्याय के कठघरे में लाया जाएगा।
CM एमके स्टालिन ने X पर लिखा- बसपा के प्रदेश अध्यक्ष आर्मस्ट्रॉन्ग की हत्या स्तब्ध करने वाली और दुखद है। पुलिस ने हत्या में शामिल लोगों को रातोंरात गिरफ्तार कर लिया है। आर्मस्ट्रॉन्ग की पार्टी, परिवार, रिश्तेदारों और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना हैं। मैंने पुलिस अधिकारियों को मामले को शीघ्रता से चलाने और दोषियों को कानून के अनुसार न्याय के कटघरे में लाने का आदेश दिया है।
----------------------------
उद्धव बोले- मुंबई का नाम अडाणी सिटी नहीं होने देंगे, सत्ता में आते ही प्रोजेक्ट रद्द करेंगे
मुंबई। शिवसेना (UBT) के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने धारावी विकास परियोजना को लेकर राज्य सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। ठाकरे का कहना है कि धारावी के विकास के लिए जानबूझकर बिजनेसमैन गौतम अडाणी को टेंडर दिया गया है। धारावी का विकास होना चाहिए, अडाणी का नहीं।
ठाकरे ने कहा कि धारावी के लोगों को 500 वर्ग फुट का घर मिलना ही चाहिए। हर घर में एक माइक्रो व्यापार चलता है। इसके लिए भी उपाय होना चाहिए। ये (भाजपा) मुंबई का नाम अडाणी सिटी भी कर देंगे। इनकी कोशिश चल रही है, उसे हम होने नहीं देंगे। ठाकरे ने शनिवार को कहा कि अगर उनकी पार्टी महाराष्ट्र की सत्ता में आती है तो अडाणी को दिया गया प्रोजेक्ट रद्द कर दिया जाएगा।
ठाकरे ने कहा कि धारावी के लोगों को पात्र और अपात्र के चक्रव्यू में फंसाने की कोशिश की जा रही है। हमारी सरकार सत्ता में आएगी तो हम धारावी के लोगों को दूसरी जगह नहीं बसाएंगे। धारावी में ही कारोबार की उचित व्यवस्था की जाएगी।
उन्होंने कहा कि धारावी का विकास होना चाहिए, अडाणी का नहीं। अगर अडाणी धारावी के लोगों की डिमांड पूरी नहीं कर सकते तो दोबारा टेंडर कराया जाए। ग्लोबल टेंडर निकलना चाहिए और पारदर्शिता का पालन होना चाहिए। सरकार को जवाब देना चाहिए कि इसे अभी तक क्यों नहीं रद्द किया गया।
महाराष्ट्र सरकार मुंबई में मौजूद एशिया के सबसे बड़े स्लम धारावी के डेवलपमेंट पर काम कर रही है। इसके लिए सरकार ने टेंडर निकाला, जो जुलाई 2023 में अडाणी ग्रुप को मिला। सितंबर 2023 में अडाणी ग्रुप ने एक नई कंपनी बनाई। इसका काम धारावी का विकास करना है।
धारावी के स्लम एरिया को अलग-अलग फेस में रिडेवलप किया जाएगा। सबसे पहले वहां रहने वाले लोगों को शिविरों में भेजा जाएगा। इसके बाद वहां पर नए घरों को बनाया जाएगा।
धारावी रिडेवलपमेंट प्रोजेक्ट 23 हजार करोड़ का है। प्रोजेक्ट के तहत, जो लोग 1 जनवरी 2000 से पहले से धारावी में रह रहे हैं उन्हें फ्री में पक्का मकान दिया जाएगा। जबकि, जो लोग 2000 से 2011 के बीच आकर यहां बसे हैं, उन्हें इसके लिए कीमत चुकानी होगी।
अडाणी ग्रुप के अलावा बोली लगाने वालों में दूसरे नंबर पर DLF ग्रुप रहा था, जिसने 2,025 करोड़ रुपए की बोली लगाई, जबकि नमन ग्रुप की बोली कैंसिल कर दी गई। इस टेंडर में 8 ग्लोबल कंपनियों ने दिलचस्पी दिखाई थी, लेकिन असल में सिर्फ तीन कंपनियों ने इस प्रोजेक्ट के लिए बिडिंग डॉक्यूमेंट जमा किए थे।
धारावी का स्लम 240 हेक्टेयर में फैला हुआ है, जहां करीब 10 लाख लोग रहते हैं। महाराष्ट्र सरकार ने पूरे इलाके को अनडेवलप्ड एरिया के रुप में बताया है और इसके लिए एक स्पेशल प्लानिंग अथॉरिटी बनाई है।

उज्जैन। गुरुवार देर रात उज्जैन के हामुखेड़ी में रहने वाले भाजपा नेता प्रकाश यादव और रिटायर्ड फौजी सुरेंद्र प्रताप सिंह के बीच विवाद हो गया था। सूचना पर नागझिरी थाना पुलिस विवाद सुलझाने के लिए मौके पर पहुंची। इसी बीच फैजी ने यादव को गोली मार दी।
मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले में भाजपा नेता और सीएम मोहन यादव के खास माने जाने वाले बिल्डर प्रकाश यादव को रिटायर्ड फौजी ने गोली मार दी। दोनों के बीच बच्चों को लेकर विवाद चल रहा था। घटना कल देर रात नागझिरी थाना क्षेत्र के हामुखेड़ी की है। आर्मी से रिटायर्ड जवान सुरेंद्र प्रताप सिंह और भाजपा नेता व बिल्डर प्रकाश यादव का आसपास में ही मकान है।
जानकारी के अनुसार गुरुवार रात करीब 12:45 बजे हामुखेड़ी में रहने वाले भाजपा आर्थिक प्रकोष्ट के नगर संयोजक व बिल्डर प्रकाश यादव और रिटायर्ड फौजी सुरेंद्र प्रताप सिंह के बीच विवाद हो गया था। जिसकी सूचना मिलने पर नागझिरी थाना पुलिस विवाद सुलझाने के लिए मौके पर पहुंची। दोनों के बीच हो रहे विवाद को शांत करने का प्रयास किया जा रहा था, इसी बीच सुरेंद्र प्रताप सिंह ने अपनी लायसेंसी रिवाल्वर लेकर आ गया और उसने प्रकाश यादव के सीने में गोली मार दी। घटना के बाद अफरा तफरी मच गई। पुलिस ने घायल यादव को तुरंत निजी अस्पताल में भर्ती कराया। डॉक्टरों ने इलाज के बाद उन्हें खतरे से बाहर बताया है।
पुलिस ने बताया कि घटना की सूचना मिलते ही नागझिरी थाना प्रभारी तुरंत मौके पर पहुंचे थे। वे मामले को शांत कराने का प्रयास कर रहे थे, इसी बीच रिटायर्ड फौजी सुरेंद्र सिंह ने गोली चला दी और फिर फरार हो गया। पुलिस केस दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। पुलिस का कहना है कि आरोपी सुरेंद्र सिंह को जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

---------------------------------
झोलाछाप डॉक्टरों के अवैध क्लीनिक पर प्रशासन ने की छापेमारी, बड़ी मात्रा में दवाइयां बरामद
डिंडोरी। विगत कई वर्षों से डिंडोरी जिले में झोलाछाप चिकित्सकों ने अपनी दुकानें खोल रखी हैं जिले में सैकड़ों कथित चिकित्सक स्वास्थ्य विभाग की मिली भगत से अपना गोरख धंधा चला रहे हैं। बड़ी बात बात यह है की जिला मुख्यालय में ही दर्जनों झोलाछाप चिकित्सक बेखोफ अपनी दुकान चला रहे हैं और ग्रामीणों की जान के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। जिला प्रशासन के औचक निरीक्षण के बाद जहां दो कथित चिकित्सक पकड़े गए वहीं जानकारी लगते ही अन्य चिकित्सक अपनी दुकान बंद कर फरार हो गए।
इन पर हुई कार्रवाई-कलेक्ट्रेट के सामने ही एस के विश्वास लगभग दो दशक से अधिक समय से अपना दवाखाना चला रहा था जो शुक्रवार को कार्रवाई की जद में आ गया इसी तरह दिलीप चक्रवर्ती को भी अंग्रेजी दवाओं के साथ पकड़ा गया। दोनो ठिकानों से बड़ी मात्रा में एलोपैथिक दवाएं, सीरिंज, ग्लूकोज बोतल सहित अन्य दवाएं पकड़ी गई, कार्रवाई के बाद जिले में झोलाछापों में हड़कंप की स्थिति बनी हुई है।
महत्त्वपूर्ण बात यह है कि जिले में संचालित अवैध पेथालोजी के विरुद्ध प्रशासन कब कार्रवाई करता है। झोलाछाप डाक्टरों के खिलाफ की गई कार्रवाई ने जिला प्रशासन की नाक के नीचे चल रहे गोरखधंधे में स्वास्थ्य विभाग की कलई खोल कर रख दी है।
कार्रवाई के दौरान डिंडोरी एसडीएम रामबाबू देवांगन, सीएमएचओ डॉ रमेश मरावी, नायब तहसीलदार शशांक शेंडे सहित राजस्व विभाग और स्वास्थ्य विभाग का अमला मौजूद रहा।
----------------------------------
झोलाछाप डॉक्टर पर बड़ा एक्शन: क्लीनिक सील, मिला दवाईयों का जखीरा, मचा हड़कंप
डिंडोरी। मध्य प्रदेश केडिंडोरी में झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है। कलेक्टर विकास मिश्रा के आदेश पर एसडीएम डिंडोरी और सीएमएचओ ने छापामार कार्रवाई करते हुए दस्तावेज और दवाइयां खंगाली तो पाया कि सब नियम विरुद्ध संचालित कर ग्रामीणों को लूटा जा रहा था। इसके बाद टीम ने क्लीनिक का तालाबंदी कर सील करने की कार्रवाई की है।
डिंडोरी कलेक्टर विकास मिश्रा ने बताया की जिला मुख्यालय और तहसीलों में जहां चिकित्सा सुविधा शासन की उपलब्ध है उसके बाद भी ऐसे क्लीनिक नियम विरुद्ध संचालित है, और मेडिकल स्टोर संचालकों की मिलीभगत से दवाइयां भी तैयार कर जनता को ठग रहे है। साथ ही इतने सालो से संचालित है तो स्वास्थ्य विभाग के ऐसे लोगो की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे है, जिन्हे देखने की जिम्मेदारी इन पर है।
वहीं जिला चिकित्सालय के सीएमएचओ डॉक्टर रमेश मरावी का कहना है कि जिस विधा सेबंगाली डॉक्टर एसके विश्वास को इलाज करने की परमिशन मिली थी, वे उसे छोड़कर वे सीरिंज, इंजेक्शन, बाटल का उपयोग करते हुए एलोपैथी तरीके से इलाज करते पाए गए। उन्होंने कहा कि ऐसी कार्रवाई अब जारी रहेगी।

मुरैना। हाईकोर्ट के आदेश पर शुक्रवार की दोपहर राजस्व व पुलिस विभाग का दल बागचीनी चौखट्टा स्थित मंदिर की जमीन पर हुए अतिक्रमण काे हटाने पहुंचा। कार्रवाई के दौरान अतिक्रामकों ने प्रशासन की टीम पर पथराव कर दिया, जवाब में पुलिस ने लाठियां भांजी, भीड़ को काबू करने के लिए आंसू गैस व वाटर केनल तक का उपयोग किया गया।
पथराव में प्रशासन के कई वाहनों के शीशे फूट गए, एक आरक्षक घायल हो गया, वहीं अतिक्रामक पक्ष की तीन महिलाओं की तबीयत बिगड़ गई, जिन्हें बेसुध हालत में सड़क पर रखकर करीब पौन घंटे तक जाम लगाया गया। बागचीनी चौखट्टा पर महादेवजी बांके दुल्हेनी मंदिर (दुल्हेनी रामजानकी मंदिर) है।
इस मंदिर के नाम नेशनल हाईवे 253 किनारे तीन बीघा से ज्यादा जमीन है। इसी जमीन में से उरहेडी गांव के सर्वे नंबर 195 की 0.90 आरे जमीन हड़बांसी गांव के बालट्टर शर्मा, अवनीश शर्मा, रामप्रकाश शर्मा, रामनरेश शर्मा पुत्रगण रामसनेही शर्मा ने कब्जा कर लिया था।
रामसनेही शर्मा ने करीब 12 साल पहले इस जमीन के एक हिस्से पर परशुराम मंदिर बनवाया, उसके बाद रामसेनी के चारों बेटों ने अतिक्रण कर मंदिर की जमीन पर अलग-अलग मकान बना लिए, मकान के पिछले हिस्से में खेती कर रहे थे।
वहीं हाईवे की ओर मंदिर की जमीन पर 10 दुकानें बनाकर उनका हर महीने किराया वसूल रहे थे। इसके खिलाफ मंदिर के पुजारी ऋषिकेश गोस्वामी ने ग्वालियर हाईकोर्ट में रिट पिटीशन लगाई थी, जिसकी सुनवाई करते हुए कोर्ट ने मंदिर की जमीन पर अतिक्रमण माना और इसे हटाकर जमीन को मुक्त कराने के निर्देश मुरैना कलेक्टर को दिए गए थे।
इसी क्रम में जौरा एसडीएम, तहसीलदार, तीन थानों से पुलिसकर्मी और 15 हल्कों के पटवारी दो जेसीबी लेकर कार्रवाई करने पहुंची। पहले जेसीबी से मंदिर की जमीन पर बनी दुकानें तोड़ीं, लेकिन जब चारों मकानों का नंबर आया तो परिवार की महिलाएं मकानों के दूसरी मंजिल पर चढ़ गईं।
महिला पुलिसकर्मियों ने बल प्रयोग करके महिलाओं को बाहर निकाला। इसके बाद जैसे ही मकानों पर जेसीबी का पंजा लगा, तभी प्रशासन की टीम पर पथराव हो गया। पथराव में जौरा एसडीएम की गाड़ी, जेसीबी, फायर ब्रिगेड, पुलिस के कुछ वाहनों के शीशे फूट गए। पथराव इतना तेज था, कि अधिकारी-कर्मचारियों में भगदड़ मच गई। जवाब में पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े फिर वाटर केनल से भीड़ को तितर-बितर करने लाठियां तक भांजी, तब उपद्रव कर रही भीड़ भागी।
पथराव और फिर आंसू गैस छोड़ने के बीच हुए हंगामे के दौरान तीन महिला 40 वर्षीय यशोदा पत्नी विनोद शर्मा, 53 वर्षीय सीमा पत्नी महेश शर्मा और 52 साल की मीरा पत्नी रामप्रकाश शर्मा की तबीयत बिगड़ गई। तीनों महिलाएं बेसुध हो गईं।
इसी बीच अफवाह फैला दी, कि पुलिस कार्रवाई में तीनों महिलाओं की मौत हो गई, बेसुध महिलाओं को सड़क पर रखकर हाईवे पर जाम लगा दिया। दोपहर सवा दो बजे से तीन बजे तक यह जाम लगा रहा। इस दौरान हाईवे पर ट्रैक्टर-ट्राली, पत्थर, लकड़ियां आदि सामान रखकर आवागमन पूरी तरह बंद कर दिया।
हालात बिगड़ने की सूचना मिलते ही एएसपी डॉ. अरविंद ठाकुर मौके पर पहुंचे, उन्होंने समझाइश देकर जाम खुलवाया। तीनों महिलाओं को जिला अस्पताल भेजा, जहां उनकी हालत में सुधार है। जाम खुलवाने के बाद भीड़ को मंदिर की जमीन से दूर खदेड़ा गया, इसके बाद अतिक्रमण कर बने मकानों को जेसीबी से जमींदोज किया गया।
बताया गया है, कि हाईकोर्ट ने 27 मई को इस अतिक्रमण को हटाने के आदेश दिए थे। इसके बाद जौरा तहसील से अतिक्रामकाें को नोटिस दिए गए, इसके बाद राजनीतिक दबाव भी अफसरों पर आया, लेकिन हाईकोर्ट का आदेश होने के कारण कोई सिफारिश नहीं चली।
अंत में कुछ लोग कलेक्टर अंकित अस्थाना के पास आए और 11 जून को परिवार के बेटी की शादी होने की बात कहते हुए मकानों को खाली करने के लिए मोहलत मांगी। कलेक्टर ने शादी के बाद 15 जून तक मकान खाली करने को कहा, जिस पर अतिक्रामक सहमत हो गए, लेकिन बाद में मकान खाली नहीं किए, इसलिए प्रशासन को सख्ती से कार्रवाई करनी पड़ी।
मंदिर की जमीन पर अतिक्रमण करके चार मकान व 10 दुकानें बना ली गई थी। इसे हटाने के लिए हाईकोर्ट ने आदेश दिया था, उसी के पालन में कार्रवाई हुई है। कार्रवाई के दौरान विरोध, जाम लगाया गया है। पथराव और जाम लगाने वालों पर छानबीन के बाद कार्रवाई होगी।
- डॉ. अरविंद ठाकुर एसपी, मुरैना
हमारे दादाजी ने इस जमीन पर परशुराम मंदिर बनवाया। समाज ने पंचायत करके उन्हें मंदिर के पुजारी की जिम्मेदारी दी। हमारे मकान तोड़ने से पहले कोई सूचना नहीं दी, गुरुवार शाम को एसडीएम आफिस से एक नोटिस आया, कुछ समझ पाते उससे पहले ही कार्रवाई कर दी, हमें घराें से सामान भी नहीं निकालने दिया। महिलाओं को डंडों से पीट पीटकर घायल किया, इसलिए लोग आक्रोश में आ गए और पथराव कर दिया होगा।
- विवेक शर्मा निवासी हड़बांसी
------------------------------------
95 साल की बुजुर्ग सास को लाठी से पीटती रही बहू… इलाज के दौरान मौत
भिंड। जिले के बरासों क्षेत्र में मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। सोने की मोहरें (साेने के सिक्का) और जमीन बंटवारे को लेकर छोटी बहू ने अपनी 95 वर्षीय सास पर लाठी से हमला कर दिया। खास बात ये है कि जिस समय बहू सास को लाठी से मार रही थी, तब बुजुर्ग मां का बेटा चारपाई के पास बैठा यह सब नजारा देखता रहा।
इसके बाद बेटा अपने भतीजे के साथ मां को इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर आया और अस्पताल में इलाज के दौरान बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। घटना शुक्रवार सुबह करीब 9 बजे की है। जानकारी के अनुसार, 95 वर्षीय सुखदेवी बघेल पत्नी रामनाथ बघेल निवासी खैरोली थाना बरासों के दो बेटे हैं।
बड़ा बेटा कल्याण बघेल और छोटा बेटा कालीचरण बघेल। सुखदेवी पिछले 30-35 सालों से बड़े बेटे कल्याण बघेल के साथ रह रही थी। शुक्रवार सुबह करीब 9 बजे सुखदेवी अपनी चारपाई पर लेटी हुई थी। करीब 9 बजे छोटे बेटे कालीचरण बघेल की पत्नी लीला बघेल ने सोने की मोहरें और जमीन बंटवारे को लेकर अपनी सास से विवाद किया और लाठी उठा लाई और सास पर हमला कर दिया।
इस दौरान कालीचरण अपनी मां के पास चारपाई पर बैठा रहा। मारपीट के बाद कालीचरण अपनी मां को भतीजे बृजेश के साथ इलाज के लिए जिला अस्पताल लेकर आया। यहां इलाज के दौरान बुजुर्ग महिला की मौत हो गई।
इस दौरान घर में किसी ने मारपीट का मोबाइल से वीडियो बना लिया और इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया है। नाती बृजेश पुत्र कल्याण बघेल की रिपोर्ट पर मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।
जमीन और सोने की मोहरों के बंटवारे को लेकर घर में विवाद हुआ था। इस पर छोटी बहू ने लाठी से हमला कर दिया, जिससे बुजुर्ग महिला की मौत हो गई। - कौशलेंद्र सिंह गुर्जर, थाना प्रभारी, बरासों
--------------------------------
चलती कार में नाबालिग के साथ दुष्कर्म, वीडियो बनाकर वायरल किया, दो गिरफ्तार एक फरार
मोहना। सोशल मीडिया पर अंजान शख्स से दोस्ती कई बार घटक होती है इस बात को लगातार समझाया जाता है बताया जाता है बावजूद इसके इसमें किशोर, युवा और वयस्क सभी फंस जाते हैं और फिर दुष्परिणाम झेलते हैं, ताजा मामला मोहना थाना क्षेत्र में रहने वाली एक नाबालिग लड़की से जुड़ा है।
घटनाक्रम के मुताबिक मोहना में रहने वाली 13 साल की 9 वीं की छात्रा की दोस्ती एक साल पहले चीनौर में रहने वाले युवक से इंस्टाग्राम पर हुई , दोस्ती बातचीत में बदल गई, फिर उस युवक में से अपनी इस दोस्त का दूसरे दोस्तों से परिचय कराया और फिर लड़की की दूसरे दोस्त से भी खूब बात होने लगी।
1 जून को ये दोनों दोस्त अचानक चीनौर से कार में तीसरे दोस्त के साथ मोहना पहुंच गए और लड़की को मिलने बुलाया, वहां बातचीत करते रहे फिर घूमने लॉन्ग ड्राइव पर चलने की जिद करने लगे, लड़की ने मना किया तो जबरन कार में बैठाया और बाईपास की तरफ ले गए, इनमें से पीछे बैठा युवक लड़की के साथ छेड़छाड़ करने लगा, लड़की ने मना किया तो जान से मारने की धमकी देकर दुष्कर्म किया और साथी ने इसका वीडियो बना लिया,वीडियो बनाने के बाद युवकों ने लड़की को धमकी दी कि यदि किसी को ये बात बताई तो तुम्हारा वीडियो वायरल कर देंगे, और फिर लड़की को धक्का देकर कार से उतार दिया।
घटना के बाद युवक लड़की को परेशान करने लगे उसे धमकी देते रहे कि किसी को बताया तो ठीक नहीं होगा तुझे बदनाम कर देंग , युवकों ने लड़की को फिर मिलने बुलाया तो उसने इंकार कर दिया और मोबाइल बंद लिया , ये बात युवकों को नागवार गुजरी और दुष्कर्म का वीडियो वायरल कर दिया, वायरल वीडियो जब लड़की तक और परिजनों तक पहुंचा तो फिर लड़की ने पूरी बात घर वालों को बता दी जिसके बाद लड़की ने पुलिस में इसकी शिकायत दर्ज की।
मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस तत्काल एक्शन में आई और फिर उसने चीनौर पहुंचकर दुष्कर्म करने वाले मुख्य आरोपी और उसके एक साथी को गिरफ्तार कर लिया, पुलिस ने घटना में प्रयुक्त हुई कार और जिसमें वीडियो बनाया वो मोबाइल जब्त कर लिया , इनका तीसरा साथी अभी फरार है, पुलिस ने कहा है जल्दी ही उसे भी गिरफ्तार कर लेंगे ।

प्रमुख समाचार

चेन्नई। तमिलनाडु के BSP प्रदेश अध्यक्ष के. आर्मस्ट्रॉन्ग (52) की हत्या के मामले में पुलिस ने भाजपा की महिला पदाधिकारी अंजलाई को गिरफ्तार किया है। नॉर्थ चेन्नई की महिला मोर्चा की पदाधिकारी अंजलाई पर आरोप है कि उन्होंने आर्मस्ट्रांग की हत्या में शामिल एक हमलावर को 10 लाख रुपए दिए थे।यह रकम उन्हें एक बदमाश से मिली थी जो किसी दूसरे मामले में वेल्लोर सेंट्रल जेल में बंद है। पुलिस के मुताबिक, महिला ने हमलावरों को शरण भी दी थी। आर्मस्ट्रांग हत्या केस...

मध्य प्रदेश

भोपाल। भोपाल की हुजूर विधानसभा में बारिश के कारण शव के भीगने व टीन रखकर चिता को अग्नि देने का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। यहां शमशान न होने के कारण बांस-बल्लियां के सहारे शव को ढका गया, इसके बाद आग दी गई। वीडियो सामने आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि ये डबल इंजन सरकार का नमूना है।मामला ग्राम पंचायत चौपड़ा कला का है। यहां श्मशान घाट नहीं है। इस वजह से चिता पर अस्थाई टीनशेड डालकर अंतिम संस्कार करना पड़ा। इसका वीडियो सामने...

अपराध

भिंड । एमपी में कांग्रेस नेता के घर में पुलिस के घुसने से बवाल हो गया। कांग्रेस नेता के समर्थकों ने हंगामा कर दिया जिससे जबर्दस्त तनाव हो गया हालांकि पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने किसी तरह स्थिति संभाल ली। वरिष्ठ कांग्रेसी और पूर्व नेता प्रतिपक्ष डॉ. गोविंद सिंह की हवेली में पुलिस के घुसने से कार्यकर्ता भड़क उठे। डॉ. गोविंद सिंह ने लहार के बीजेपी विधायक अंबरीश शर्मा को घेरते हुए कहा कि वे शत्रुतापूर्ण व्यवहार कर रहे हैं।शनिवार को भिंड के लहार स्थित डॉ....
More inअपराध  

गुना सिटी

गुना । (गरिमा टीवी न्यूज़) कैंट थानाक्षेत्र के ग्राम सकतपुर रोड स्थित उत्खनन से बने अवैध तालाब में शनिवार दोपहर नहाने उतरे दो युवकों की डूबने से मौत हो गई। दोनों को डूबते हुए लोगों ने देख लिया था, तो कुछ लोग उत्खनन से बने अवैध तालाब में बचाने पहुंचे। लेकिन जब तक दोनों को खींचकर बाहर निकाला गया, तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। सकतपुर पंचायत में उत्खनन से बने अवैध तालाब के चारों तरफ तार फैंसिंग ना होना ही दो लोगों की मौत का कारण बना। सकतपुर क्षेत्र में अवैध तालाब के चारों...

फोटो गैलरी

35,10,0,50,1
25,600,60,1,300,200,25,800
90,150,1,50,12,30,50,1,70,12,1,50,1,1,1,5000
0,2,1,0,2,40,15,5,2,1,0,20,0,1
गरिमा के जन्म के 15 मिनिट बाद का फोटो
गरिमा के जन्म के 15 मिनिट बाद का फोटो
गरिमा के 1 वर्ष बाद का फोटो
गरिमा के 1 वर्ष बाद का फोटो
गरिमा के 2 वर्ष बाद का फोटो
गरिमा के 2 वर्ष बाद का फोटो
बीमार होने के बाद भोपाल अस्पताल मे भर्ती गरिमा
बीमार होने के बाद भोपाल अस्पताल मे भर्ती गरिमा
हाई कोर्ट के आदेश के बाद गरिमा के शव को जमीन से निकालते हुऐ
हाई कोर्ट के आदेश के बाद गरिमा के शव को जमीन से निकालते हुऐ
निकालने के बाद गरिमा के शव को पैक कर जॉच के लिऐ भेजा गया
निकालने के बाद गरिमा के शव को पैक कर जॉच के लिऐ भेजा गया
दोषी डॉक्टर के खिलाफ मामला कायम कराने के लिऐ पुलिस अधिक्षक से मिले पत्रकार
दोषी डॉक्टर के खिलाफ मामला कायम कराने के लिऐ पुलिस अधिक्षक से मिले पत्रकार
गरिमा के शव की जॉच होने के बाद पुनः उसी स्थान पर चबूतरा का निर्माण किया गया
गरिमा के शव की जॉच होने के बाद पुनः उसी स्थान पर चबूतरा का निर्माण किया गया
पूजा स्थल मे गरिमा
पूजा स्थल मे गरिमा